जानिए उप वनमंडलाधिकारी, गंडई का हाल

कार्यालय उप वनमंडलाधिकारी, गंडई में दस्तावेजों का संधारण एवं संवर्धन जानबूझकर सही ढंग से नहीं किया जाता, वन्यप्राणी अधिनियम के तहत वन अपराध तथा शिकारियों से संबंधित जानकारी तथा पी.ओ.आर. क्रमांक तथा दिनांक से संबंधित पंजी जिसमे शिकार हुए वन्य प्राणियों के नामों, उम्रों, शिकार के किस्म तथा माननीय न्यायालय में प्रस्तुत चालान की तिथि से संबंधित अन्य जानकारी का संधारण किया जाना है जिसे बाद में वनमण्डल अधिकारी खैरागढ़ के मार्फ़त से मुख्य वन संरक्षक दुर्ग में फार्मेट 42 व प्रपत्र 32, 37 के तहत प्रत्येक माह जमा किया जाना अनिवार्य है परन्तु कार्यालय उप वनमंडलाधिकारी गंडई को यह सब मालूम होते हुए भी जानबूझकर संधारित नहीं किया जाता, इसी तरह उप वनमंडलाधिकारी गंडई कार्यालय द्वारा अपने क्षेत्र में चल रहे कार्यो जैसे कि वृक्षारोपण, चेकडेम, डब्लू.बी.एम. तथा भवनों एवं सडको की कार्यों की सूची को संधारित किया जाना चाहिए मगर ऐसी जानकारी जानबूझकर कार्यालय उप वनमंडलाधिकारी गंडई नहीं करते वहीं उप वनमंडलाधिकारी गंडई के द्वारा चल रहे कार्यों पर निरीक्षण प्रतिवेदन जारी नहीं किया जाता जो कि छत्तीसगढ़ राज्य सिविल सेवा नियम व पी.डब्लू.डी. मैनुअल तथा वन वित्तीय अधिनियम के विरुद्ध है इसके लिए पी.सी.सी.एफ. कार्यालय के अधिकारी जब कार्यालय उप वनमंडलाधिकारी गंडई का निरीक्षण करते हैं तो इसका उल्लेख किये जाने के बावजूद भी कार्यालय उप वनमंडलाधिकारी गंडई अपनी मनमानी करते हैं जो कि सरासर छत्तीसगढ़ शासन की अवहेलना है. उप वनमंडलाधिकारी गंडई के पत्र क्रमांक 19 गंडई दिनांक 8-1-2018 के अनुसार मोहन लाल चंद्रवंशी सहायक ग्रेड-3 मुख्यालय गंडई में न रहकर खैरानवापारा में निवास करते हैं जो कि नियम विरुद्ध है अत्यंत आश्चर्य का विषय है कि उप वनमंडलाधिकारी गंडई अपने पत्र क्रमांक 21, गंडई दिनांक 8-1-2018 में लेख किया है कि अवैध उत्खननों, अवैध परिवहनों में दर्ज प्रकरणों में दर्ज प्रकरणों के संबंधित की गई कार्यवाही, राजसात की कार्यवाही, राजस्व वसूली, बिना राजस्व वसूली के छोड़े गए वाहनों के नम्बर, जाँच अधिकारियों के नाम, जप्त किये गए वाहनों पर की गई अंतिम कार्यवाही से सम्बंधित पत्रों व अन्य सभी सम्बंधित दस्तावेजों की प्रमाणित सत्य प्रतिलिपि की मांग करने पर जानकारी निरंक बताया गया है परन्तु उप वनमंडलाधिकारी गंडई के अंतर्गत सतयुग आ गया है या फिर उप वनमंडलाधिकारी गंडई का कोई पकड़ नहीं है जिससे कि वन अधिनियम के तहत कार्यवाही हो सके.जबकि ऐसी जानकारी को संधारित कर कार्यालय उप वनमंडलाधिकारी गंडई के माध्यम से कार्यालय वनमंडलाधिकारी खैरागढ़ में प्रपत्र 36 के द्वारा प्रत्येक माह कार्यालय मुख्य वन संरक्षक दुर्ग में भेजा जाना चाहिए जिसमे गिट्टी, पत्थर, मुरम, रेत तथा अन्य सामग्री तथा जप्त वाहनों के नाम, वाहन क्रमांक, जप्त की गई मात्रा तथा उसकी राशि का विवरण होना चाहिए. कार्यालय उप वनमंडलाधिकारी गंडई के पत्र क्रमांक 07, गंडई दिनांक 6-1-2018 के अनुसार वन विभाग के समस्त वनकक्षों की भूमि को जिन-जिन लोगों ने अतिक्रमण किये हैं, उनके नाम, रकबा, खसरा या वनकक्ष की अघनत जानकारी तथा कार्यालय उप वनमंडलाधिकारी गंडई द्वारा जो कार्यवाही की गई है. उससे संबंधित दस्तावेज उप वनमंडलाधिकारी गंडई में उपलब्ध नहीं है जो कि अधिनियम के विपरीत है. जो व्यक्ति अपने बाथरूम में एक जीरो वोल्ट का बल्ब नहीं लगाता तथा गर्मी में 47 डिग्री की गर्मी में बिना कूलर और पंखे के रहता हो ऐसे मख्खी चूस से किसी नियम के पालन करने की उम्मीद नहीं की जा सकती.  

Popular Videos

Category: रायपुर

Category: शिक्षा

Category: वन विभाग

Category: शिक्षा

Featured Videos

Category: शिक्षा

Category: रायपुर

Category: रायपुर

Category: शिक्षा

विशेष  सूचना -  यदि किसी समाचार को रोकने या चलाने संबंधी दावा किया जाता है तो संपर्क करें -  अनिल अग्रवाल , 7999827209

सोशल मीडिया

संपर्क करें

अनिल अग्रवाल
संपादक
दानीपारा, पुरानी बस्ती
रायपुर,  छ्त्तीसगढ
492001
Mobile   - 7999827209
Email    - anilvafadar@gmail.com
website - http://www.vafadarsaathi.com

© 2010 vafadarsaathi.com. All Rights Reserved. Designed By AGsys

Please publish modules in offcanvas position.